परिचय

 

हरित क्रान्ति के उद्देश्य को सफल बनाने के दृष्टिकोण से अखिल भारतीय स्तर पर एग्रो इण्डस्ट्रियल कारपोरेशनस की स्थापना की श्रृंखला में यू०पी० एग्रो की स्थापना वर्ष 1967 में की गई। स्थापना के वर्ष से यह निगम प्रदेश के कृषकों को विभिन्न महत्वपूर्ण सेवायें उपलब्ध कराकर जहाँ एक ओर प्रदेश के कृषि उत्पादन की वृ‍‍द्धि में अहम भूमिका का निर्वाह कर रहा है वहीं प्रदेश के कृषि उद्योग एवं कृषकों को आधुनिक कृषि तकनीकी से जोड़ने का महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है। निगम की स्थापना के वर्ष 1967 में चुकता पूंजी रू. 3.00 करोड़ थी जिसमें से भारत सरकार तथा उत्तर प्रदेश सरकार के बराबर का पूंजी अंशदान था जो अब बढ़कर रू. 60.00 करोड़ हो गई है तथा वर्ष 1976 से यह योजना भारत सरकार द्वारा पूर्णरूप से राज्य सरकार को हस्तांतरित कर दी गई है।

 

निगम के सम्पूर्ण कार्यकलापों को क्रियान्वित करने हेतु लगभग 542 कुशल अधिकारी/ कर्मचारी मुख्यालय क्षेत्रीय एवं जिला स्तर पर पूरी दक्षता के साथ कार्य में लगे हुए हैं।